संगठन की रूपरेखा
  • प्रारम्‍भ से ही अग्रणी होना
    • बीबीएमबी की 2882.73 मेगावाट अधिष्‍ठापित क्षमता है :- उच्‍च भार संयत्र खण्‍ड सहित भारत में जल विद्युत का विस्‍तृत आधार।
    • बीबीएमबी 400 केवी, 220 केवी, 132 केवी, त‍था 66 केवी पारेषण लाईनों के 3735 कि.मी. विस्‍तृत नेटवर्क के माध्‍यम से उत्‍तरी ग्रिड में भी विद्युत पारेषित करता है।
    • बीबीएमबी देश में विस्‍तृत जलाशयों जैसे भाखडा और पौंग बांधों का रखरखाव करता है तथा लम्‍बी हाईड्रो टनलों और हाईडल चैनलों का परिचालन भी करता हैं।
    • भाखडा नंगल तथा ब्‍यास बांधों ने बाढों पर नियंत्रण किया है और उत्‍तरी भारत के भागीदार राज्‍यों के लिए खुशहाली भी लाया हैं।
  • एक नजर
  • उत्‍पादन क्षमता
: 2900.73 मेगावाट
  • विद्युत गृहों की संख्‍या
: 6
  • विद्युत उत्‍पादक यूनिटो की संख्‍या
: 28
  • लाभानुभोगी राज्‍यों की संख्‍या
: 7
  • भारत में जल विद्युत का विस्‍तृत आधार
  • परियोजना उत्‍पादन क्षमता (मेगावाट में)
    भाखडा बांया किनारा विद्युत गृह 576
    भाखडा दायां किनारा विद्युत गृह 785
    गंगूवाल विद्युत गृह 76.39
    कोटला विद्युत गृह 77.34
    देहर विद्युत गृह 990
    पौंग विद्युत गृह 396

    बीबीएमबी देश में पुराने जल विद्युत गृहों के नवीनकरण, आधुनिकीकरण ओर उन्‍नयन को बढावा दे रहा है। यह कार्य सभी बीबीएमबी विद्युत गृहों के लिए पहले से ही प्रारम्‍भ कर दिया गया है।
  • हाईड्रो टनलों और चैनलों का सुदृढ नेटवर्क
  • नाम लम्‍बाई (कि.मी.) डायामीटर (एम) क्षमता (क्‍यूमिक)
    पंडोह बग्‍गी टनल 13.1 7.62 254.85
    सुन्‍दर नगर सतलुज टनल 12.35 8.53 403.52
    सुन्‍दर नगर हाईडल चैनल 11.8 - 254.85
    नंगल हाईडल चैनल 64.5 - 354
  • 400 केवी से 66 केवी तक पारेषण लाईनों का विस्‍तृत नेटवर्क :-
  • क्रम सं. वोल्‍टेज स्‍तर सब स्‍टेशनों की संख्‍या लाईन की लम्‍बाई (सर्किट कि.मी.)
    1 400 केवी 3 573.95
    2 220 केवी 17 2993.54
    3 132 केवी 2 21.72
    4 66 केवी 2 115.50
      कुल 24 3704.71